Hardware क्या है? – What is Computer Hardware in Hindi?

0

Last updated on March 15th, 2019 at 01:24 am

Computer Hardware क्या है? क्या आप Computer hardware की पूरी जानकारी हिंदी में जानना चाहते हो? जैस की – Hardware Kya Hai? – What is Computer Hardware in Hindi? और हार्डवेयर Field में आगे बदना है तो, ये लेख आपका काम का है। हार्डवेयर क्या है? इस लेख पर पूरा विवरण दिए गए है। Hardware की Component Parts, इन सभी के बारे में आपको सब कुछ मिल जाएगा। आपको केवल 10 मिनट के लिए इस आलेख को पढ़ने की आवश्यकता है।

Hardware Kya Hai Hindiआपको पता ही होगा, Computer एक programmable machine है, जो electronic और digital दोनों है।, Hardware और Software के बिना Computer बेकार होता है। मतलब यह है कि जो भी आप Computer के साथ कर रहे हैं, वह सभी काम Hardware, Operating System और Software द्वारा होता है। ऑपरेटिंग सिस्टम और सॉफ्टवेयर क्या है? इसके बारे में पहले ही पूरी जानकारी दे दी गई है। अगर आपने नहीं पढ़ा है तो इसे पहले पढ़ें ताकि आप इस पोस्ट को पूरी तरह से समझ सकें।

Computer हार्डवेयर क्या है? और Hardware कैसे काम करता है? जिससे हमारा जीवन कंप्यूटर की दुनिया को digital और आसान बनाने में इतना सफल हो। तो आइये जानते है पूरी हार्डवेयर की जानकारी हिंदी में।



Hardware क्या है? – What is Computer Hardware in Hindi?

Definitions: कंप्यूटर हार्डवेयर (H/W) physical components (घटक) हैं, यानी वे Components जिन्हें देखा और स्पर्श किया जा सकता है। और जिन्हें कंप्यूटर सिस्टम को कार्य (function) करने की आवश्यकता होती है। इसमें एक circuit board के साथ सबकुछ शामिल होता है, जो एक laptop या PC के अंडर संचालित होता है; जैसे, Motherboard, CPU, Ventilation fans, Graphics card, WebcamPower supply, Hard disk आदि शामिल हैं।

Computer hardware kya hai hindi

Hardware केवल कंप्यूटर सिस्टम का हिस्सा है। firmware भी है, जो हार्डवेयर में embedded होता है, और इसे controls करता है। अर्थात, हार्डवेयर के साथ interface करने के लिए firmware का उपयोग होता है।

Laptops और Desktop PCs के लिए हार्डवेयर में अंतर सिर्फ Differences size में design किया गया है। लेकिन PC और laptops के भीतर समान core components दिया जाता है। केबल हार्डवेयर के design आकार में अंतर है, लेकिन बाकि सब कुछ एकजैसा होता है। हार्डवेयर के बिना, आवश्यक (essential) सॉफ़्टवेयर चलाने का कोई तरीका नहीं होगा, जो कंप्यूटर को इतना उपयोगी बनाता है। सॉफ़्टवेयर को आपके कंप्यूटर पर चलने वाले virtual programs के रूप में परिभाषित किया गया है; वह है, Operating system, Internet browser, Word-processing documents, इत्यादि।



Computer Hardware Components in Hindi

जैसा की मैंने कह है, Computer केवल तभी काम कर सकता है, जब Hardware और Software दोनों एक साथ काम कर रहे हों, एक system की गति हार्डवेयर के इस्तेमाल पर भारी निर्भर करता है। एक नया कंप्यूटर बनाते समय, या बस पुराने हिस्सों (parts) को प्रतिस्थापित (replacing) करते समय, आपको अपने Computer में विशिष्ट hardware को जानने की आवश्यकता हो सकती है। इसलिए इस गाइड का उद्देश्य (purpose) आपको कंप्यूटर की अंदरूनी कामकाज को समझने में मदद करना है।

कुछ Hardware components पहचानने में आसान होते हैं, जैसे Computer case, Monitor और Keyboard. हालांकि, हार्डवेयर घटकों (components) के कई अलग-अलग प्रकार हैं। जिसकी वजह से आपको सभी हार्डवेयर components को समझने में थोड़ी मुश्किल हो सकती है। इसीलिए आपको hardware के types के साथ समझना होगा। तो चलो विभिन्न Hardware Components को कैसे पहचानें और वे क्या करते हैं, पूरी जानकारी हिंदी में जानते हैं।

 

हार्डवेयर के प्रकार । Types of hardware in Hindi

Computer हार्डवेयर को 4 श्रेणी में विभाजित किया जा सकता है:

  1. System unit.
  2. Input devices.
  3. Output devices.
  4. Memory storage devices.

#1 System unit क्या है?

सिस्टम यूनिट, एक डेस्कटॉप कंप्यूटर का मुख्य हिस्सा है, जिसे “tower” या “chassis” के रूप में भी जाना जाता है। इसमें motherboard, power supply unit, CPU, RAM,  और अन्य components शामिल हैं। मतलब सिस्टम यूनिट में वह सब भी शामिल होता है, जिसमें कंप्यूटर के internal components होते हैं। दिखने मे ये एक बॉक्स की तरह होता है, जिसके अंदर कंप्यूटर के मुख्य internal components मौजूद होता है। तो आइए एक-एक करके system unit के आंतरिक मुख्य भागों को जानते हैं:

1. Central Processing Unit (CPU)

CPU (Central processing unit) कंप्यूटर के अंदर एक electronic circuitry है, जो निर्देशों द्वारा निर्दिष्ट मूल arithmetic, logic, नियंत्रण और input/output संचालन करके Computer Program के निर्देशों को पूरा करती है।

सरल शब्दों में कहा जाये तोह, CPU आपके कंप्यूटर का Brain होता है। और ये Computer के अंदर होता है। CPU आपके कंप्यूटर को दिए गए सभी निर्देशों को handles करता है। मतलब आप जो कुछ कंप्यूटर को निर्देशों देता है, CPU आप से दिए गए सभी निर्देशों को तेज़ी से बेहतर करती है।

2. Motherboard

एक motherboard आपके कंप्यूटर के सभी हिस्सों को power receive करने और RAM, CPU और अन्य सभी Computer Hardware एक दूसरे के साथ संवाद (communicate) करने की अनुमति देता है।

Hardware matherboard Hindi

3. RAM (Random Access Memory)

Random access memory (RAM) कंप्यूटरों में इस्तेमाल होने वाले डेटा storage का एक प्रकार है, जो आम तौर पर motherboard पर स्थित होता है। इस प्रकार की memory अस्थिर (volatile) है, और कंप्यूटर बंद होने पर RAM में stored सभी जानकारी ख़तम यानि lost हो जाती है। Random-access memory डिवाइस data items को memory के अंदर डेटा के physical स्थान के बावजूद लगभग उसी समय में पढ़ने या लिखने की अनुमति देता है।

4. DVD ROM Driver

किसी डेटा को स्थायी रूप से संग्रहीत करने के लिए DVD disc का उपयोग किया जाता है। DVD-ROM डिस्क का उपयोग तब किया जाता है जब CD-ROM डिस्क में बड़े सॉफ़्टवेयर applications को वितरित करने की क्षमता नहीं होती है।

5. Hard Drive

Hard disk drive एक कंप्यूटर में मुख्य और आमतौर पर सबसे बड़ा, data storage हार्डवेयर device है। ऑपरेटिंग सिस्टम, सॉफ्टवेयर titles, और अधिकांश अन्य फाइलें hard disk drive में जमा हो जाती हैं। यानि, हम अपने Data को Hard Drive में Store करके रखते हैं। जैसे हम Data को Phone की Memory में Store करते हैं, कंप्यूटर के Hard Drive में Storage किया गया डेटा वैसा ही रहता है।

अगर आप windows use करते है, तो आपके कंप्यूटर में by default “C drive” का एक फाइल होता है। क्यों की hard drive को कभी-कभी “C drive” के रूप में संदर्भित किया जाता है। कंप्यूटर में प्राथमिक hard drive पर प्राथमिक विभाजन के लिए “C” ड्राइव letter को डिज़ाइन करता है।

6. Power Supply

एक power supply unit कंप्यूटर के आंतरिक components के लिए mains AC से low-voltage regulated DC power परिवर्तित करता है। आधुनिक personal कंप्यूटर सार्वभौमिक रूप से switched-mode बिजली की आपूर्ति का उपयोग करते हैं। कुछ बिजली की supplies में input voltage का select करने के लिए Manual switch होता है, जबकि अन्य automatic रूप से मुख्य वोल्टेज को adapt करते हैं।

 

#2 Input Device क्या है?

इनपुट डिवाइस एक कंप्यूटर hardware उपकरण है, जिसका उपयोग information processing system जैसे कंप्यूटर सूचना उपकरण के लिए data और control signals प्रदान करने के लिए किया जाता है। अर्थात्, यदि आप कंप्यूटर को कुछ task processing करने देते हो, तो कंप्यूटर को उपयोग करने की प्रक्रिया के लिए signals भेजने वाले उपकरण को input device कहा जाता है। जैसे उदाहरणों में शामिल हैं – Touchpads, Keyboard, Scanner,  Mouse, Barcode reader, OCR, Electronic Whiteboard, OMR, etc. आइए इन सभी input hardware Devices के बारे में जानते हैं:

1. Touchpad

टचपैड एक इनपुट डिवाइस है। अक्सर हम इसे लैपटॉप में इस्तेमाल करते हैं, क्योंकि इस hardware की मदद से हमें अपनी उंगली से कर्सर को movement करने की अनुमति देता है। touchpad को glide point, trackpad, glide point या pressure sensitive tablet भी कहा जाता है।

2. Keyboard

जैसा कि आप कीबोर्ड को जानते हैं, एक keyboard को typewriter जैसी keys के सेट के रूप में परिभाषित किया गया है, इसके मदद से आप कंप्यूटर में कुछ भी डाटा, Command दर्ज कर सकते है। keyboard electric-typewriters के समान होते हैं लेकिन इसमें अतिरिक्त टाइपिंग keys होती हैं। जो आप पढ़ रहे हैं वह इस hardware की मदद से लिखा गया है।

3. Scanner

ये Hardware भी एक input डिवाइस है, जो documents और तस्वीरों जैसे text को scans करता है। यानि scanner का उपयोग digital format में physical media को input करने के लिए किया जाता है। कंप्यूटर में जब आपके documents scans करते है तो scanner उसे digital format में बदल देता है। और documents का एक electronic version भी बनाता है, जिसे कंप्यूटर पर scan किये गए documents देखा और edited किया जा सके।

4. Mouse

कंप्यूटर mouse एक hardware input डिवाइस है, इस कंप्यूटर हार्डवेयर को मदद से हम अपने हाथो से graphical user interface में एक कर्सर को नियंत्रित करता है। जैसे icons, text, folders और files को move और select करने के लिए mouse का उपयोग किया जाता है।

5. Barcode reader

एक बारकोड रीडर स्थिर input device है। और इस hardware को price scanner या point-of-sale scanner भी कहा जाता है। bar code में निहित जानकारी को पकड़ने और पढ़ने के लिए उपयोग किया जाता है। एक barcode reader में एक decoder और scanner होता है, और reader एक केबल के साथ कंप्यूटर से कनेक्ट होता है।

6. OCR (Optical character recognition)

जब आप किसी text documents का scan या photo लेते है, तो scan किये गए text document image format में saved होता है। और आपको पता ही होगा image format से हम कोय text edit नहीं कर सकते है। इसलिए अगर आपको image format से text documents को edit करना है तोह OCR hardware के मदद से edit करना पड़ेगा। क्योंकि OCR (optical character recognition) कंप्यूटर द्वारा printed या लिखित text characters की recognition के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

7. OMR (Optical mark recognition)

वर्तमान समय में, यह hardware परीक्षा में सबसे अधिक उपयोग किया जाता है। यदि इसकी structure के बात करे, तो यह multiple choice examination paper होता है, और इसमें 4 blank circle बना हुआ होता है, और हमें केवल एक option में टिक करना होता है। Optical mark recognition का उपयोग हमारे टिक किये गए multiple परीक्षा के प्रश्नपत्र पढ़ने के लिए किया जाता है।

#2. Output Device क्या है?

कंप्यूटर CPU में Processing करने के बाद, हमें जो डेटा मिलता है। उससे हम आउटपुट डिवाइस कह सकते हैं। मान लीजिए, कंप्यूटर में आप video देखेंगे, तो पहले आपको Video format (file) को play करते है, जब वीडियो process होने के बाद computer की Monitor पर आपको video देखने को मिलती है। तो यहाँ Output आपका video है, और जिसके मदद से आप वीडियो देख पा रहे हो, वह हो गया output device.

यानि यहाँ Monitor Screen आपका output device है। इसी तरह, कई output devices उदाहरणों में शामिल हैं – Printers, Monitor (LED, LCD, CRT etc), Projector, Speaker, Head Phone, Film Recorder, Plotter, etc. तो आइए एक-एक करके इन सभी output hardware Devices के जानते हैं:

1. Printer

इस hardware को तो आप जानते ही है। यह एक external हार्डवेयर output device होता है। इसके मदद से आप किसी भी original documents का hard copy यानि duplicate बनाके, school से लेके हर एक जगह पर इस्तेमाल करते है। क्योंकि कंप्यूटर या अन्य device पर stored documents और images को hard copy तैयार करता है। और इसकी वजह से आप electronic data को पेपर में printout करके स्पर्श कर सकते है।

2. Monitor

यह एक कंप्यूटर output device है, जो हमें output provide करते है। इस हार्डवेयर की वजहसे, हम कुछ भी input कंप्यूटर में देते है, तो monitor screen पर output देखा जाता है। जैसे, अगर आप कोय वीडियो play करते है, तो monitor और video card की कारण वह video screen में देख पते है। पहले हम CRT monitor used करते थे जो देखने में box जैसा होता था। और अभी हम LCD monitors used करते है।

3. Projector

यह एक महत्वपूर्ण output device होता है। इस हार्डवेयर के मदद से हम computer के Screen पर चल रही कार्यों को, आसानी से बड़े screen में दिखाता है। जैसे, Power Point, MS Word पर PPT Presentation बनाके Projector के साथ बड़ी screen में दिखाई देने वाले लोगों को समझा सकता है। उदाहरण के लिए,थिएटर में हम Projector से बड़ी screen में movie देखते हैं।

4. Speaker

हम इस हार्डवेयर का उपयोग daily जीवन में करते हैं। कंप्यूटर में जो audio हम सुनते हैं, वह electrical audio format में होता है। यदि आपको electrical audio सुनना है, तो आपको इसे electrical audio से corresponding sound में बदलने की आवश्यकता है। और speaker वह महत्वपूर्ण hardware है, जिसके मदद से हम कंप्यूटर पर चलने वाले electrical audio signal को convert करके corresponding sound में बदल कर सुन पते है।

5. Headphone

इस हार्डवेयर को भी हम daily जीवन में उपयोग करते है। ये बस छोटे loudspeaker drivers की एक जोड़ी होता है, जो उपयोगकर्ता के कानों के ऊपर या उसके आसपास पहना जाता है। और इसका उपयोग electrical audio signal को संबंधित ध्वनि (corresponding sound ) में परिवर्तित करने है।

6. Film Recorder

इस हार्डवेयर के मदद से digital images को photographic film में transfer करने के लिए एक graphical output device है। film recorder ज्यादातर film maker used करते है। क्योंकि इसका high-resolution cathode ray tube display होता है।

7. Plotter

यह hardware एक computer printer होता है, जो vector graphics में printing output देती है। अतीत में, plotter का उपयोग computer-aided डिज़ाइन जैसे applications में किया जाता था, हालांकि उन्हें wide-format वाले conventional प्रिंटर से बदल दिया गया है। plotter हमें output की एक हार्ड कॉपी देता है। जोह एक पेन का उपयोग करके कागज पर चित्र बनाता है।

plotter का used normal printer से अलग है। आम तौर पर plotter का उपयोग high-resolution quality जैसे, 2D, 3D drawing में किया जाता है।

 

#3. Memory Storage Device क्या है?

यह वह Storage Device है, जिसकी मदद से आप कंप्यूटर में कुछ भी डाटा को temporary या permanently store कर पाते है। ठीक उसी तरह जैसे smartphone में memory storage होती है। यदि आप इसके प्रकार के बात करते हैं, तो Computer Storage Device 2 प्रकार की होती है:

1. Primary storage device

यह वह स्टोरेज डिवाइस है, जो आपको कंप्यूटर पर data temporary store करने की अनुमति देता है। यह एक volatile memory है। यदि आप कंप्यूटर बंद करते हैं, तो data स्थायी रूप से delete हो जाते है। उदाहरण के लिए – RAM (Random Access Memory).

2. Secondary storage device

यह एक non-volatile memory होता है। Secondary storage memory कंप्यूटर पर डेटा permanently स्टोर करता है। कुछ भी Data अगर आप कंप्यूटर में saved करते है, तो वह डाटा Secondary memory के अंडर store होता है। इसीलिए कंप्यूटर को बंद करने के बाद भी आपको डेटा मिल जाता है। उदाहरण के लिए – Hard Disk

Hardware और software के बीच संबंध:

  • हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर परस्पर एक दूसरे पर निर्भर होते है।
  • कंप्यूटर को उपयोगी output देने के लिए hardware और software एक साथ काम करता है।
  • हार्डवेयर का समर्थन के बिना सॉफ़्टवेयर का उपयोग नहीं किया जा सकता है।
  • Programs सेट के बिना हार्डवेयर का उपयोग नहीं किया जा सकता, यानि सॉफ्टवेयर के बिना हार्डवेयर बेकार है।
  • हार्डवेयर एक बार का खर्च है, और Software को लगातार maintenance करना होता है, इसलिए सॉफ्टवेयर विकास बहुत महंगा होता है।
  • यदि hardware कंप्यूटर सिस्टम का ‘दिल’ है, तो software इसकी ‘आत्मा’ है। यानी, दोनों एक-दूसरे के पूरक हैं।




हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर कैसे Communicate करते हैं?

System resource एक ऐसा उपकरण है, जिसका उपयोग हार्डवेयर या सॉफ्टवेयर द्वारा एक दूसरे के साथ किया जाता है। जब सॉफ़्टवेयर किसी डेविस को डेटा भेजना चाहता है, जैसे कि जब आप किसी फ़ाइल को हार्ड ड्राइव में सहेजना चाहते हैं, या जब हार्डवॉयर को attention देने की आवश्यकता होती है, जैसे कि आप कीबोर्ड पर एक key दबाते हैं। तोह हार्डवेयर या सॉफ्टवेयर संचार के लिए सिस्टम संसाधनों का उपयोग करता है।

चार प्रकार के सिस्टम संसाधन हैं, जो हार्डवेयर और सॉफ़्टवेयर को एक दूसरे के साथ Communicate करने में मदद करते हैं। जैसे – 1) Memory Address, 2) Input/Output address, 3) Interrupt Request Numbers (IRQ), 4) Direct Memory Access (DMA) Channels.

अधिक जानकारी के लिए इस video tutorial को देखें:

Conclusion: कंप्यूटर हार्डवेयर क्या है? – What is Hardware in Hindi?

तो चले इस लेख में बताये गए, मुख्य Points को Quickly Summarize कर लेते है:

  • कंप्यूटर हार्डवेयर क्या है: हार्डवेयर एक physical components होता है, जिन्हें देखा और स्पर्श किया जा सकता है। इसमें एक circuit board के साथ शामिल होता है, जो PC के अंडर संचालित होता है; उदाहरण के लिए, CPU, Motherboard, Graphics card, Power Supply, इत्यादि सभील होता है।
  • हार्डवेयर को 4 श्रेणी में विभाजित किया जा सकता है, जैसे – 1) System unit. 2) Input devices. 3) Output devices. 4) Memory storage devices.
  • Hardware और software के बीच संबंध की बात करे तो – अगर hardware कंप्यूटर सिस्टम का ‘दिल’ है, तो software इसकी ‘आत्मा’ होता है। यानी, दोनों एक-दूसरे के बिना बेकार है।
  • हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर बीच Communicate: System resource की मदद से हार्डवेयर या सॉफ्टवेयर एक दूसरे से Communicate करते है।
ये भी पढ़े:

मुझे उम्मीद है कि, ‘Hardware kya hai?‘ इस लेख ने आपको कंप्यूटर हार्डवेयर को समझने में मदद की है। यदि आपके पास हार्डवेयर से संबंधित कोई प्रश्न है, तो आप comment करके पूछ सकते हैं। और इस लेख को Social media पर अपने दोस्तों के साथ Share जरूर करे। हमेशा हमारे साथ जुड़े रहने के लिए, social media page को like करे – Fb Page, Twitter, Instagram, FB Group, Youtube. धन्यवाद। हमेशा सीखते रहें और दूसरे लोगों को सीखने में मदद करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here